Thursday, 14 March 2019

आइंस्टीन विश्व विज्ञान जगत में सदा अमर रहेंगे : डॉ. प्रदीप

Aryabhatt Science

आइंस्टीन विश्व विज्ञान जगत में सदा अमर रहेंगे : डॉ. प्रदीप




देवघर (------------------------------------------) : स्थानीय साइंस एंड मैथमेटिक्स डेवलपमेंट आर्गेनाईजेशन के बैनर तले विश्व के महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन की 140 वीं जयंती मनाई गई । मौके पर साइंस आर्गेनाईजेशन के राष्ट्रीय सचिव डॉ. प्रदीप कुमार सिंह देव ने कहा- अल्बर्ट आइंस्टीन का जन्म 14 मार्च, 1879 को हुआ था । वे एक विश्वप्रसिद्ध सैद्धांतिक भौतिकविद् थे जो सापेक्षता के सिद्धांत और द्रव्यमान-ऊर्जा समीकरण के लिए जाने जाते हैं। उन्हें सैद्धांतिक भौतिकी, खासकर प्रकाश-विद्युत ऊत्सर्जन की खोज के लिए 1921 में नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया।उन्होंने सामान्य आपेक्षिकता और सामान्य आपेक्षिकता के सिद्धांत सहित ब्रह्मांड, केशिकीय गति, क्रांतिक उपच्छाया, सांख्यिक मैकेनिक्स की समस्याऍ, अणुओं का ब्राउनियन गति, अणुओं की उत्परिवर्त्तन संभाव्यता, एक अणु वाले गैस का क्वांटम सिद्धांत, कम विकिरण घनत्व वाले प्रकाश के ऊष्मीय गुण, विकिरण के सिद्धांत, एकीकृत क्षेत्र सिद्धांत और भौतिकी का ज्यामितीकरण दुनिया को दिया है । आइंस्टीन ने पचास से अधिक शोध-पत्र और विज्ञान से अलग किताबें लिखीं।



आइंस्टीन ने 300 से अधिक वैज्ञानिक शोध-पत्रों का प्रकाशन किया। 5 दिसंबर 2014 को विश्वविद्यालयों और अभिलेखागारो ने आइंस्टीन के 30,000 से अधिक अद्वितीय दस्तावेज एवं पत्र की प्रदर्शन की घोषणा की हैं। आइंस्टीन के बौद्धिक उपलब्धियों और अपूर्वता ने "आइंस्टीन" शब्द को "बुद्धिमान" का पर्याय बना दिया है। अपने पूरे जीवनकाल में, आइंस्टीन ने सैकड़ों किताबें और लेख प्रकाशित किये। उन्होंने 300 से अधिक वैज्ञानिक और 150 गैर-वैज्ञानिक शोध-पत्र प्रकाशित किये।
उन्होंने सापेक्षता के सिद्धांत को व्यक्त किया। जो कि हरमन मिन्कोव्स्की के अनुसार अंतरिक्ष से अंतरिक्ष-समय के बीच बारी-बारी से परिवर्तनहीनता के सामान्यीकरण के लिए जाना जाता है। अन्य सिद्धांत जो आइंस्टीन द्वारा बनाये गए और बाद में सही साबित हुए, बाद में समानता के सिद्धांत और क्वांटम संख्या के समोष्ण सामान्यीकरण के सिद्धांत शामिल थे। मौके पर डाक द्वारा आयोजित निबन्ध प्रतियोगिता के विजयी प्रतिभागियों के नाम की घोषणा की गई ।

Monday, 11 March 2019

Chance to be Resource person of Vidyarthi Vigyan Manthan of Vigyan Bharti

Aryabhatt Science

Chance to be Resource person of Vidyarthi Vigyan Manthan of Vigyan Bharti


You are requested to share this information with the teachers/lecturers/professors/scientists/science communicators.

Vidyarthi Vigyan Manthan 2019-20 hereby appeal / invite the teachers/lecturers/professors/scientists/science communicators from the entire country to submit the questions of the subject/s (Physics, Chemistry, Biology and Mathematics) they like the most and join us as the Academic Resource Person for VVM 2019-20 under the *"Expression of Interest"* through Online and Offline mode. The link is activated and will remain active till 31 March 2019. You can visit our website or the following link to know more.

Click here for Register

Wednesday, 6 March 2019

दन्त चिकित्सक दिवस पर डॉ. कृनिता सहित वतन के 11 चिकित्सकों को अंतर्राष्ट्रीय सम्मान देने का ऐलान

Aryabhatt Science

हर चेहरे पर फबती है एक सुंदर सा मुस्कान :डॉ. प्रदीप


दन्त चिकित्सक दिवस पर डॉ. कृनिता सहित वतन के 11 चिकित्सकों को अंतर्राष्ट्रीय सम्मान देने का ऐलान
डॉ कृनिता मोटवाणी(महाराष्ट्र)

डॉ हुबर्ट गोम्स (गोवा)

डॉ शोमेश ग्रोवर (हरियाणा)

डॉ शलाका कादली व डॉ सौरभ कादली


देवघर ( -------------------------------------) : स्थानीय विवेकानन्द शैक्षणिक, सांस्कृतिक एवं क्रीड़ा संस्थान तथा साइंस एंड मैथमेटिक्स डेवलपमेंट आर्गेनाईजेशन के युग्म बैनर तले राष्ट्रीय दन्त चिकित्सक दिवस के अवसर पर वतन के स्वनामधन्य ग्यारह दन्त चिकित्सकों को " महात्मा गाँधी 150 वीं जयंती स्मृति दन्त चिकित्सक सम्मान "प्रदान करने का निर्णय लिया गया । विवेकानन्द संस्थान के केन्द्रीय अध्यक्ष सह साइंस आर्गेनाईजेशन के राष्ट्रीय सचिव डॉ. प्रदीप कुमार सिंह देव ने जानकारी दी कि इस वर्ष 2 अक्टूबर को अंडमान निकोबर में अंतर्राष्ट्रीय सम्मान समारोह के दौरान महाराष्ट्र से मुंबई के डॉ. कृनिता मोटवाणी, डॉ. शलाका कादली एवं डॉ. सौरभ कादली, नागपुर के डॉ. हर्षवर्धन आर्या, अहमदाबाद, गुजरात के डॉ. अग्रवात, नई दिल्ली के डॉ. अरुण सेतिया, डॉ. सुनील खोसला, डॉ. अरुण ग्रोवेन एवं डॉ. गगन सभरवाल,  गोवा के डॉ. हुबर्ट गोम्स तथा गुड़गांव, हरियाणा के डॉ.  सोमेश ग्रोवर को यह सम्मान प्रदान किया जायेगा । मौके पर डॉ. देव ने कहा- हर चेहरे पर फबती है एक सुंदर सी मुस्कान और मुस्कान को सुंदर बनाते हैं स्वस्थ दांत । कुछ सावधानियों को बरत कर हम अपने दांतों को स्वस्थ रख सकते हैं- अपने टूथब्रश को अक्सर बदलते रहें और नया टूथब्रश इस्तेमाल करें। नियमित रूप से फ्लॉस करना चाहिए । विटामिन सी और कैल्शियम युक्त उचित स्वास्थ्यपरक आहार के साथ मौसमी खाद्य पदार्थों और सब्जियों का सेवन जरूरी है । नियमित रूप से दांतों का चेकअप सभी के लिए जरूरी है । इस मौसम में हम कॉफी या चाय जैसे गर्म पेय क खूब सेवन करते हैं, जिसमें कैफीन होता है, इससे हमारे दांत खराब या कमजोर हो सकते हैं और उन पर दाग या कालापन हो सकता है, इसलिए दोनों का कम मात्रा में सेवन करने की चेष्टा करनी चाहिए ।

Saturday, 2 March 2019

Science and Math Development Organization will Celebrate Birth Anniversary of Satyendra Nath Bose

Aryabhatt Science

बच्चों की खुशियाली में बैंक ऑफ महाराष्ट्र सदैव अहम भूमिका निभाएगी : कल्याणी



देवघर (-----------------------------------------------) : स्थानीय साइंस एंड मैथेमैटिक्स डेवलपमेंट आर्गेनाईजेशन के बैनर तले पूरे वर्ष भारतीय वैज्ञानिक सत्येन्द्र नाथ बोस की 125 वीं जयंती धूमधाम से मनाई जा रही है । पूरे वर्ष भर में विद्यार्थियों के बीच उनसे सम्बंधित चित्रांकन, निबन्ध, भाषण, प्रश्नोत्तरी व विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन भारत के प्रायः सभी राज्यों में करने का निर्णय लिया गया है । साथ ही देश विदेश के 125 विज्ञानप्रेमियों को उनकी तस्वीर भी समर्पित की जा रही है । साथ ही पूरे वर्ष में 125 विजेताओं को एक वर्ष के लिए संस्था की ओर से दो लाख का जीवन-बीमा का लाभ भी दिया जा रहा है । इसकी शुरुआत कर दी गई है । इस वर्ष हाल में ही आयोजित सी. वी. रमन साइंस ओलिंपियाड के 22 विजेताओं को बैंक ऑफ महाराष्ट्र में खाता खोलने और जीवन-बीमा का लाभ उठाने हेतु फॉर्म प्रदान कर दिया गया है, जिसमें बीमा हेतु जो राशि लगेगी, संस्था वहन करेगी। संस्था के राष्ट्रीय सचिव डॉ. प्रदीप कुमार सिंह देव ने जानकारी दी कि यूनिक कैरियर पब्लिक स्कूल, पोड़ैयाहाट के गणेश कुमार भगत, सोनी कुमारी व टीना कुमारी ; गीता देवी डी. ए. वी. पब्लिक स्कूल, भंडारकोला के आयुष राज, कनिष्का शरण व अभिलाषा शर्मा ; संत माइकल एंग्लो विद्यालय के अभिनव राज, यश कुमार, कुमार अभिनव, अर्चना कुमारी, अभिनव कुमार ; बड्स पैराडाइस स्कूल, चकाई के किशन कुमार, शुभा श्री व निशिका कुमारी ; सुप्रभा शिक्षा स्थली के आदित्य राज, मौसम प्रिया व अंतरिक्ष प्रज्ञा ; भारती विद्यापीठ के सम्यक राय, ज्योति कुमारी व दिशा कुमारी ; संत कोलम्बस स्कूल की कोमल वत्स एवं संत जेवियर्स हाई स्कूल के हर्ष राज का नाम शामिल है ।
मौके पर स्थानीय बैंक ऑफ महाराष्ट्र के शाखा प्रबंधक कल्याणी चौधरी ने कहा- बच्चों की खुशियाली में बैंक ऑफ महाराष्ट्र सदैव साथ है । उन्होंने संस्था द्वारा विजेताओं को प्रदत्त इस बीमा के लिए संस्था के सभी पदाधिकारियों को साधुबाद दिया । उन्होंने कहा- ऐसे कार्यक्रमों से वैज्ञानिक सत्येन्द्र नाथ बोस को सच्ची श्रद्धांजलि एवं नव भारत निर्माण में संस्था अहम भूमिका निभा रही है । बैंक के कर्मी ऐसे पुनीत कार्यो में हमेशा योगदान देंगे ।
मौके पर उपस्थित साइंस फॉर सोसाइटी, देवघर के अध्यक्ष प्रो. रामनन्दन सिंह, संत माइकल एंग्लो विद्यालय के निदेशक डॉ. जय चन्द्र राज, देवघर जिला प्राइवेट स्कूल के सचिव प्रेम कुमार, बड्स पैराडाइस के प्राचार्य समीर कुमार दूबे, संत कोलम्बस के प्राचार्य गौरव शंकर, भारती विद्यापीठ की निदेशिका सुनीता सिंह, वेकसो इंडिया के कोषाध्यक्ष प्रभाकर कापरी, यूनिक कैरियर की प्राचार्या अर्पणा गुप्ता एवं उपस्थित अभिभावकों ने इस पुनीत कदम को काफी सराहा । पूरे कार्यक्रम में श्वेता कुमारी व मोहम्मद असरफ की अहम भूमिका रही ।